फिर दुनिया पर छाए MODI

फिर दुनिया पर छाए MODI

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जहां जाते हैं, वहां छा जाते हैं। अमेरिकी दौरे के दौरान मोदी की एक झलक पाने और उनसे हाथ मिलाने वालों की भीड़ में भारतवंशियों के Prime Ministerसाथ विदेशी भी नजर आए। मोदी ने अमेरिकी भारतीयों को संबोधित करते हुए जो भाषण दिया उसने एक बार फिर से पूरे विश्व का ध्यान भारत की ओर मोड़ दिया। मोदी ने अपने भाषण में भाजपा सरकार के कार्यकाल की खूबियां तो गिनाई हीं, साथ ही वैश्विक मंच पर भारत की निखरती छवि का भी उल्लेख किया। इतना ही नहीं वे बातों ही बातों में दुनिया को ये संदेश भी दे गए कि जो भारत के साथ नहीं चलेगा, उसे इसकी कीमत चुकानी होगी। हम अपने पाठकों के लिए प्रधानमंत्री Modi के भाषण को महत्वपूर्ण बिंदुओं की शक्ल में पेश कर रहे हैं:

  • भारत के प्रति दुनिया की सोच बदली है। जो बदलने के लिए तैयार नहीं हैं, वे 21वीं सदी में अप्रसांगिक बन जाएंगे।
  • इस बदलाव के लिए मोदी नहीं बल्कि देशवासियों की संकल्प शक्ति जिम्मेदार है।
  • मंगल मिशन की तरह मैं भी पहली बार में सफल रहा।
  • केंद्र में सरकार बनाने के 16 महीने बाद भी भ्रष्टाचार का एक भी मामला सामने नहीं आया।
  • बिचौलियों के दिन अब लद गए हैं, भ्रष्टाचार किसी भी सूरत में स्वीकारय नहीं है।
  • दुनिया भारत का लोहा मानने लगी है, 21वीं सदी हमारी होगी।
  • आतंकवाद और जलवायु परिवर्तन दुनिया के सामने सबसे बड़ी चुनौतियां हैं। भारत हर संकट से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है।
  • संयुक्त राष्ट्र अब तक आतंकवाद की परिभाषा तय नहीं कर सका है।
  • पहले लोग ब्रेन डेड की बात करते थे, मगर मैं इसे ब्रेन डिपॉजिट कहता हूं। ये ब्रेन गेम है, जिसे ब्याज सहित लौटाने का अब वक्त आ गया है।
  • स्वतंत्रता संग्राम में भगत सिंह के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता, मैं उन्हें कोटि-कोटि नमन करता हूं।
Share:

Related Post

Leave a Reply