Youtube: नाम के साथ दाम भी कमाएं

एक जमाना था जब अपने हुनर को लोगों तक पहुंचाने के लिए आसमां से तारे तोडऩे जितनी मेहनत करनी पड़ती थी, लेकिन आज सोशल मीडिया ने सबकुछ बेहद आसान बना दिया है। फेसबुक और यूट्यूब दो ऐसे मंच हैं, जहां प्रतिभाओं को अपने पंख फैलाने के लिए ज्यादा मशक्कत नहीं करनी पड़ती। कई ऐसे लोग हैं जिन्हें फेसबुक या यूट्यूब ने रातों-रात स्टार बना दिया। यूट्यूटब पर यदि आपको देखने-सुनने वालों की भीड़ उमड़ती है तो ये आपकी कमाई का जरिया भी हो सकता है। दरअसल, यूट्यूब की पॉलिसी के अनुसार जो वीडियो सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है, उसे gangबनाने वाले को कंपनी की तरफ से एक अनुपात में राशि दी जाती है। पिछले कुछ सालों में भारत में Youtube का विस्तार काफी तेजी से हुआ है। बीबीसी की एक खबर के अनुसार 2015 के अंत तक हर मिनट यूट्यूब पर 400 घंटे के वीडियो अपलोड किए जा रहे थे। दुनिया भर की बात की जाए तो तकरीबन 100 करोड़ लोग यूट्यूब का इस्तेमाल करते हैं।

स्मार्टफोन के आने से इसके उपयोगकर्ताओं में जबरदस्त इजाफा दर्ज किया गया है। लिहाजा आप अंदाजा लगा सकते हैं कि आपका अपलोड किया गया एक वीडियो कुछ ही मिनटों में 100 करोड़ लोगों तक पहुंच सकता है। और यदि आप लोगों का दिल जीतने में कामयाब रहे तो फिर आपको स्टार बनने से कोई नहीं रोक सकता। यूट्यूब पर कोई भी वीडियो कितनी जल्दी वायरल होता है, उसका अंदाजा कुछ वक्त पहले आए गैंगनम स्टाइल नामक गाने से लगाया जा सकता है। इस गाने को दुनिया भर में करीब 250 करोड़ बार देखा गया। यूट्यूब पर यह अब तक का सबसे ज्यादा बार देखा जाने वाला गाना बन गया है। शुरुआत में यूट्यूब पर सिर्फ 214 करोड़ बार देखे गए वीडियो तक की गिनती की जा सकती है। लेकिन गैंगनम स्टाइल के क्रेज को देखते हुए यूट्यूब को अपनी सीमा बढ़ानी पड़ी।

कम ही लोग जानते हैं कि यूट्यूब की शुरुआत एक डेटिंग साइट की तरह हुई थी। इसे जावेद करीम, स्टीव चेन और चैड हर्ले नामक तीन लोगों ने शुरू किया था। उस वक्त किसी ने भी नहीं सोचा था कि यह वीडियो शेयरिंग कुछ ही सालों में इतिहास रच देगी। यूट्यूब के हिट होते ही गूगल ने उसे अपना बना लिया। आज के वक्त में यूट्यूब का मुकाबला करने के लिए कोई दूसरी साइट नहीं है। कहने का मतलब ये है कि अगर आपके अंदर प्रतिभा है तो उसे लोगों तक पहुंचाने के लिए किसी मौके की तलाश करने की जरूरत नहीं है। बस एक वीडियो बनाइए और उसे यूट्यूब पर अपलोड कर दीजिए। 

एक ad ने बदल दी जिंदगी

कहते हैं किस्मत बदलते देर नहीं लगती, एयरटेल 4जी के विज्ञापन में नजर आने वालीं साशा को देखकर तो कम से कम इस पर यकीन किया जा सकता है। कुछ वक्त पहले तक साशा क्षेत्री आम युवतियों की तरह थीं, लेकिन एक ad ने उन्हें रातों-रात स्टार बना दिया। लोग उन्हें अब एयरटेल airtelगर्ल के तौर पर पहचानने लगे हैं। देहरादून निवासी साशा ने मुंबई के जेवियर्स इंस्टीट्यूट ऑफ कम्युनिकेशन्स से पढ़ाई की है। संगीत कलाकार साशा को एक्टिंग या मॉडलिंग का कोई अनुभव नहीं है। हांलाकि उन्हें मॉडलिंग का शौक जरूर रहा है। इसी शौक में उन्होंने अपना प्रोफाइल और कुछ फोटो विज्ञापन एजेंसियों की वेबसाइट पर अपलोड कर दिए थे। एयरटेल को उस वक्त अपने 4जी ब्रांड के लिए किसी नए चेहरे की तलाश थी। कंपनी को साशा के फोटो इतने पसंद आए कि उसने तुरंत साशा को मुंबई बुलाया और देखते ही देखते एक आम लडक़ी स्टार बन गई। क्रिएटिव एजेंसी कट द क्रैप के फाउंडर-डायरेक्टर जगदीश आचार्य तो साशा को 2015 की लताजी कहते हैं। उनका मानना है कि बहुत थोड़े से समय में ही साशा लोगों की नजर में छा गई हैं।साशा की तरह विशालmaukaad मल्होत्रा की जिंदगी भी एक विज्ञापन ने बदल दी। क्रिकेट वल्र्ड कप के मशहूर विज्ञापन मौका-मौका में पाकिस्तानी टीम की जर्सी पहने नजर आने वाला शख्स कोई और नहीं विशाल ही हैं। विशाल का एक्टिंग से कभी दूर का नाता भी नहीं रहा, लेकिन अब वो गंभीरता से इस बारे में सोचने लगे हैं। दिल्ली निवासी विशाल ने एमिटी यूनिवर्सिटी से पढ़ाई की। एक समय में उनका वजन 130 किलो था, अपने आसपास के लोगों से प्रभावित होकर उन्होंने खुद को फिट बनाया। वो मानते हैं कि वल्र्ड कप के adv से उन्हें एक नई पहचान मिली है। विशाल को कुछ ऑफर भी मिलने लगे हैं।