Modi Gov: आलाकमान से इत्तेफाक नहीं रखते कांग्रेसी

नरेंद्र मोदी सरकार के दो साल पूरे होने के मौके पर कांग्रेस ने एक कार्टून बुक जारी करके अपना विरोध जताया है। इस किताब में modiविकास सहित कई मुद्दों पर कार्टून के जरिए सरकार की नाकामी को दर्शाया गया है। कांग्रेस का मानना है कि Modi Gov के दो साल किसी भी सूरत में देश के लिए अच्छे नहीं रहे। न तो आम आदमी को सरकार ने कोई राहत दी, और न ही उद्योग जगत राहत महसूस कर पाया। हालांकि ये बात अलग है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी सहित चुनिंदा वरिष्ठ नेताओं के मार्गदर्शन में तैयार की गई इस कार्टून बुक से अधिकतर कांग्रेसी इत्तेफाक नहीं रखते। उनका कहना है कि अगर राजनीतिक चश्मा हटाकर देखा जाए तो दो साल में ऐसे कई कार्य हुए हैं जिनकी सराहना की जानी चाहिए।

महाराष्ट्र कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, हम मानें या न मानें विकास तो हुआ है। अर्थव्यवस्था की रफ्तार भले ही वादे अनुसार नहीं रही, पर उसमें सुधार है। वर्तमान सरकार जिस तरह अर्थव्यवस्था पर फोकस कर रही है, उसके और भी बेहतर परिणाम आने वाले वक्त में मिलेंगे। पिछले दो सालों में देश की जीडीपी बेहतर हुई है, इसे नकारा नहीं जा सकता। हां, इतना जरूर है कि मोदी को यूपीए के कार्यकाल में किए गए प्रयासों का लाभ मिल रहा है। कांग्रेस हमेशा से अर्थव्यवस्था पर जोर देती आई है। विदेश नीति के लिए भी पिछले 2 साल अच्छे रहे, मोदी की आक्रामक भूमिका ने पाक और चीन जैसे हमारे पड़ोसियों के मन में जहां खौफ पैदा किया वहीं अमेरिका और अन्य मुल्कों की सोच भी बदली। हालांकि, नेपाल से हमारे संबंध जरूर खराब हुए हैं, मोदी को इस दिशा में गंभीरता से सोचने की जरूरत है। महंगाई पर सरकार को थोड़ा ज्यादा फोकस करना चाहिए।

मध्यप्रदेश कांग्रेस से जुड़े एक नेता ने कहा, दो साल में बदलाव तो हुए हैं। विपक्षी पार्टी होने के नाते हम सार्वजनिक तौर पर तो इसका बखान नहीं कर सकते, लेकिन हकीकत स्वीकारते हैं। बात चाहे विदेश नीति की या अर्थव्यवस्था की, मजबूती दिखाई दे रही है। कुछ मुद्दे हैं, जिन पर सरकार ज्यादा ध्यान नहीं दे सकी है। मसलन महंगाई और सांप्रदायिक सौहार्द कायम करना। उम्मीद कर सकते हैं कि आने वाले वक्त में स्थिति और सुधरेगी। हाल ही में सामने आए पांच राज्यों के चुनावी नतीजे इस बात का सबूत है कि जनता को बदलाव नजर आ रहा है। अब भला जनता से ज्यादा सरकार के कामकाज को कौन परख सकता है? एक महत्वपूर्ण बात जो मेरे जैसे अधिकतर कांग्रेसी महसूस करते हैं, वो यह है कि मोदी ने चुनाव पूर्व और बाद आक्रामकता की लय बरकरार रखी है। जो कांग्रेस के कार्यकाल में नदारद थी। हमारी सरकार ने भी कई अच्छे कार्य किए, लेकिन उससे भुनाने के प्रयास सही से नहीं हो सके।

cartoon4

एक अन्य नेता ने कहा, मोदी जो सबसे महत्वपूर्ण काम का रहे हैं, वो है जनता से संवाद। वे इस बात को बखूबी समझते हैं कि संवाद से ही समस्याएं दूर की जा सकती हैं। पिछले दो सालों में विकास हुआ है, इसमें कोई दोराय नहीं। लेकिन उसकी गति रॉकेट सरीखी थी ऐसा बिल्कुल नहीं है। रोजगार विकास और महंगाई के मसले पर सरकार ज्यादा कुछ नहीं कर सकी है। वो केवल संवाद के जरिए लोगों में यह विश्वास बनाए हुए हैं कि अच्छे दिन आ रहे हैं। हमारी सरकार बस यही काम ठीक ढंग से नहीं कर सकी। हां, विदेश नीति के बारे में अपनी समझ के आधार पर मैं ये जरूर कह सकता हूं कि हालात पहले से बेहतर हुए हैं। लोकसभा चुनाव से पूर्व जिस तरह के आक्रामक तेवर भाजपा ने दिखाए थे, उसका फायदा द्विपक्षीय सम्बंधों में देखने को मिला है। मैं यहां मोदी सरकार से कहना चाहूंगा कि अगर महंगाई की नब्ज जल्द नहीं टटोली गई, तो उसे भविष्य में नुकसान उठाना पड़ सकता है।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस से जुड़े एक नेता के मुताबिक, र्स्टाटअप इंडिया, गरीबों के बैंक खाते खुलवाना, उनका बीमा करवाना, सब्सिडी के बोझ को कम करना आदि कई ऐसे कार्य हैं, जो पिछले दो सालों में हुए हैं। इसलिए ये कहना कि मोदी सरकार ने कुछ नहीं किया, मुझे नहीं लगता सही होगा। विपक्ष के तौर पर हमारा काम सरकार की नीतियों में खामिया निकालने का है, लेकिन आम भारतीय के तौर पर तो हम जो कुछ अच्छा हो रहा है उसकी प्रशंसा कर ही सकते हैं। जिस तरह के पांच राज्यों के चुनाव परिणाम आए हैं, उसे देखते हुए हमारी पार्टी को उत्तर प्रदेश में काफी मेहनत करनी होगी।

Leave a Reply