आखिर बिटकॉयन क्या बला है?

रैनसमवेयर वायरस वानाक्राई बीते कुछ दिनों से सबकी जुबान पर है. इस वायरस ने दुनिया भर में दो लाख से ज्यादा कंप्यूटरों को अपना शिकार बनाया है. यह वायरस एक तरह से डिजिटल किडनैपिंग है, जिसमें फिरौती भी उसी रूप में दी जाती है. अगर आपने रैनसमवेयर के बारे में पढ़ा है, तो आपने बिटकॉयन का नाम भी सुना होगा. तो आइए जानते हैं कि आखिर यह बिटकॉयन है क्या?

bitcoinबिटकॉयन एक वर्चुअल करेंसी है, जिसपर कोई सरकारी नियंत्रण नहीं है. लेकिन ज़्यादातर महत्वपूर्ण करेंसियों को इससे एक्सचेंज किया जा सकता है. चूंकि यह किसी देश की मुद्रा नहीं है, इस पर कोई टैक्स नहीं लगता. इस गुप्त मुद्रा को दुनिया में कहीं भी खरीदा या बेचा जा सकता है. शुरुआत में कंप्यूटर पर बेहद जटिल कार्यों के ज़रिये यह क्रिप्टो करेंसी कमाई जाती थी. अब हैकर अपनी जेब भरने के लिए इसे उपयोग में ला रहे हैं.

यह करेंसी सिर्फ कोड में होती है, इस वजह से इसे जब्त या नष्ट नहीं किया जा सकता. बिटकॉयन खरीदने के लिए यूज़र को पता रजिस्टर करना होता है, जो 27-34 अक्षरों या अंकों के कोड में होता है और वर्चुअल पते के रूप में काम करता है. लेकिन इन वर्चुअल पातों का कोई रजिस्टर नहीं होता. इस वजह से बिटकॉयन रखने वालों की पहचान गुप्त रहती है.

इसे ख़ास किस्म के कम्युनिटी सॉफ्टवेयर के माध्यम से जारी किया जाता है. तकरीबन हर 15 मिनट पर यह बनाए और वितरित किए जाते हैं. वैसे तो इसका इस्तेमाल सीमित है, मगर कुछ शॉपिंग मॉल, बिज़नेस संबंधी एक्सचेंज में इसका प्रयोग हो रहा है. बिटकॉयन ट्रांसफर करना ईमेल भेजना जितना आसान है, बस आपके पास बिटकॉयन एड्रेस होना चाहिए.

Leave a Reply