किसान: विपक्ष में रहते हुए खूब किए ट्वीट अब हैं खामोश

मध्यप्रदेश के हिंसक हो चुके किसान आंदोलन की गूंज पूरे देश में सुनाई दे रही है, लेकिन प्रधानमंत्री खामोश हैं. शायद इसकी वजह उनका सत्ता में होना है, क्योंकि विपक्ष में रहते वक़्त उन्होंने किसानों के नाम पर मनमोहन सरकार को कोसने में कोई कसर नहीं छोड़ी थी. 4 मार्च 2014 को अपने एक ट्वीट में नरेंद्र मोदी ने लिखा था, “मुझे उम्मीद है कि मध्य प्रदेश के किसानों को जो सहायता चाहिए उसमें केंद्र सरकार मदद करेगी और राज्य सरकार को संसाधन मुहैया कराएगी, ताकि समय पर किसानों को मदद मिल सके.” वैसे यह कोई पहला मौका नहीं है संवेदनशील और गंभीर मामलों पर पीएम बनने के बाद मोदी अधिकतर खामोश रहना ही पसंद करते हैं.

सोशल मीडिया पर मोदी के इस पुराने ट्वीट को लेकर काफी मजाक बनाया जा रहा है. स्वराज पार्टी के संस्थापक योगेन्द्र यादव ने लिखा है “ये 2014 की बात है. मध्य प्रदेश के किसान इस तरह के ट्वीट का इंतजार कर रहे हैं.” उधर, विपक्ष भी मोदी की ख़ामोशी पर सवाल खड़े पर रहा है.

Leave a Reply