Goldman: काफी पहले से चल रही थी हत्या की प्लानिंग

Goldman के नाम से मशहूर पिंपरी चिंचवड के दत्ता फुगे की गुरुवार रात बेरहमी से हत्या कर दी गई। हत्यारे उन्हें एक पार्टी के बहाने घर से ले गए थे। दत्ता के बेटे शुभम ने इस पूरे घटनाक्रम को अपनी आंखों से देखा, लेकिन वो अपने पिता को बचाने के लिए goldmanकुछ नहीं कर सका। हत्यारे दत्ता फुगे के पहचान वाले ही थे और पैसों के विवाद को इस हत्याकांड की वजह बताया जा रहा है। हत्यारों ने इस हत्याकांड को पुणे के पास दिघी में अंजाम दिया। पहले दत्ता पर धारधार हथियारों से हमला किया गया और फिर पत्थर से उनका चेहरा कुचल दिया गया।

    मालूम हो कि लगभग तीन साल पहले साढ़े तीन किलो की सोने की शर्ट पहनकर 48 वर्षीय फुगे मशहूर हो गए थे। उस वक्त शर्ट की कीमत 1 करोड़ 17 लाख रुपए थी। इस शर्ट के लिए फुगे का नाम गिनीज बुक में भी दर्ज हुआ था। दत्ता की हत्या की प्लानिंग काफी दिनों से चल रही थी। पुलिस को लगता है कि हत्यारे सही मौके की तलाश में थे और गुरुवार को उन्हें मौका मिल गया।

अच्छा नहीं था रिकॉर्ड
फुगे का पुलिस रिकॉर्ड अच्छा नहीं था। कुछ समय पहले पुलिस ने उन्हें तड़ीपार का नोटिस भी दिया था। पैसों के लेनदेन को लेकर उनके पहले भी कई विवाद हो चुके हैं। फुगे चिटफंड का व्यवसाय करते थे, जिसके चलते वो कई लोगों के निशाने पर थे। उनकी पत्नी सीमा फुगे पिंपरी चिंचवड नगर निगम में राष्ट्रवादी कांग्रेस की सदस्यता रह चुकी हैं। हालांकि जाति प्रमाणपत्र अवैध होने के चलते उन्हें इस्तीफा देना पड़ा था।

बेटा भी सोने का शौकीन
दत्ता फुगे सोने के शौकीन थे। वैसे केवल दत्ता की नहीं उनका बेटा शुभम भी सोने के आभूषण पहनता है। पीडि़त परिवार के मुताबिक, हत्या वाली रात भी दत्ता ने सोने की चेन आदि पहन रखी थी। हमलावर उनके शरीर से सभी गहने निकालकर ले गए।

Leave a Reply