यहां होते हैं सबसे ज्यादा Rape

पिछले कुछ सालों में महिलाओं की स्थिति तेजी से सुधरी है, लेकिन चौंकाने वाली बात ये है कि इस दौरान उनके साथ बलात्कार जैसे अपराधों में भी जबरदस्त इजाफा हुआ है। गौर करने वाली बात ये भी है कि Rape के मामले महिलाओं को लेकर संर्कीण सोच रखने वाले मुल्कों की तुलना में आजाद ख्याल देशों में ज्यादा सामने आ रहे हैं। पेश है ऐसे ही टॉप 10 देशों की सूची:

1-अमेरिका
अमेरिका rape-usaकी गिनती दुनिया के सबसे विकसित देशों में होती है। लेकिन महिलाओं की सुरक्षा यहां आज भी सबसे बड़ा मुद्दा बना हुआ है। हालांकि ये बात अलग है कि इस पर ज्यादा चर्चा नहीं होती। अमेरिका में कई ऐसे मामले सामने आ चुके हैं, जहां हवस के दरिंदों ने महिलाओं के साथ हैवानियत की सारी हदें पार दीं, बावजूद इसके सरकारी स्तर पर खास कदम नहीं उठाए जा रहे। महिलाओं के साथ ही युवा लडक़ों के साथ भी यहां जबरदस्ती के मामले बढ़ रहे हैं। सरकारी आंकड़े भी बताते हैं कि अंकल सैम की यह कंट्री महिलाओं के लिए असुरक्षित बन गई है। नेशनल वायलेंस अगेंस्ट वूमन सर्वे के अनुसार, 6 में से एक अमेरिकी महिला बलात्कार का शिकर बनती है।

2-भारत
विकासशील से विकसित बनने की दौड़ में तेजी से आगे बढ़ रहे भारत में भी महिलाओं की सुरक्षा सवालों में है। देश सहित पूरी दुनिया को हिलाने  वाले निर्भया कांड के बाद भी इस दिशा में कुछ खास नहीं किया जा सका है। तकरीबन हर राज्य में बलात्कार के मामलों में हर साल इजाफा होता है। राज्य स्तर पर महिलाओं को सुरक्षा प्रदान करने के लिए कानून बनाए गए हैं, लेकिन उन्हें अमल में लाने वाला सिस्टम अब भी जस का तस है। एक अनुमान के मुताबिक, भारत में हर 22 मिनट में एक महिला बलात्कार की शिकार बनती है।

3-दक्षिण अफ्रीका
बलात्कार  के बढ़ते मामले प्राकृतिक सौंदर्य से लबरेज दक्षिण अफ्रीका की खूबसूरती पर भी कालिख लगा रहे हैं। एक अनुमान के मुताबिक यहां 50 से 55 हजार महिलाएं हर साल हवस का शिकार बनती हैं। खासतौर पर अकेली और कामकाजी महिलाओं के साथ ऐसे अपराध ज्यादा होते हैं। महिला सुरक्षा यहां सरकारी प्राथमिकता में न के बराबर है। इसके चलते महिला पर्यटक भी अब यहां अकेले जाने में कतराने लगी हैं। कुछ वक्त पहले कम्यूनिटी ऑफ इंफॉर्मेशन, एम्पावरमेंट एंड ट्रांसपेरसी ने महिलाओं से सवाल पूछे थे, जिसमें से हर तीन में से एक महिला ने बलात्कार की बात स्वीकारी थी। दुनिया भर में बच्चों से रेप के मामले सबसे ज्यादा दक्षिण अफ्रीका में होते हैं।

4-मैक्सिको
खूबसूरत देश मैक्सिको भी महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराधों की काली छाया से अछूता नहीं है। यहां अपराधियों के हौसले इतने बुलंद हैं कि वो दिन दहाड़े वारदातों को अंजाम देने से भी नहीं चूकते। कुछ वक्त पहले स्पेन की छह महिला पर्यटकों के साथ हुई घटना ने मैक्सिको सहित पूरे विश्व को खिलाकर रख दिया था। बावजूद इसके महिलाओं की सुरक्षा को लेकर कोई खास परिवर्तन देखने को नहीं मिला है। स्पेन की सैलानियों की रेप के बाद बर्बर तरीके से हत्या कर दी गई थी।

5-कनाडा
बसने केrape-afterm लिहाज से भारतीयों की पसंदीदा जगहों में से एक कहा जाने वाला कनाडा भी महिलाओं के लिए सुरक्षित नहीं है। यहां हालात ये हो चुके हैं कि हर तीन में से एक महिला बलात्कार का शिकार बनती है। जबकि केवल 6 प्रतिशत मामले ही पुलिस में दर्ज किए जाते हैं। दूसरे देशों की तरह यहां भी अधिकांश जान-पहचान वाले ही महिलाओं की आबरू को तार-तार करते हैं। बच्चों की यौन प्रताडऩा भी यहां बढ़ रही है। जस्टिस इंस्टीट्यूट ऑफ ब्रिटिश कोलंबिया के मुताबिक, बलात्कार के दौरान 62 प्रतिशत महिलाओं को शारीरिक रूप से यातना दी जाती है और 9 फीसदी को बुरी तरह मारा जाता है।

6-जर्मनी
हिटलर के rape-germजर्मनी में महिलाओं को अब भी इस्तेमाल की वस्तु के तौर पर देखा जाता है। यहां बलात्कार पीडि़तों के लिए मॉर्निंग आफ्टर पिल को कानूनी तौर पर अनुमति मिलने के बाद रेप के मामलों में जबरदस्त इजाफा दर्ज किया गया है। कामकाजी और अकेले रहने वाली महिलाएं यहां सबसे ज्यादा खौफ में जीती हैं। बलात्कार पीडि़तों को लेकर पुलिस के रवैये की भी यहां आलोचना होती रहती है। माना जा रहा है कि अगर जर्मनी रेप चार्ट में ऐसे ही आगे बढ़ता रहा तो उसका पर्यटन व्यवसाय प्रभावित हो सकता है।

7-स्वीडन
आमतौर rape-sweedenपर शांत माने जाने वाले यूरोपीयन नेशन के इस देश में बलात्कार पीडि़तों की संख्या बढ़ रही है। महिलाएं-युवतियों से लेकर बच्चे भी हवस के शैतानों के निशाने पर हैं। एक अनुमान के मुताबिक हर चार में से एक महिला यहां बलात्कार जैसे जघन्य अपराध का शिकार बनती है। जिस तरह से स्वीडन में रेप क्राइम बढ़ा है, उसे देखकर आशंका जताई जा रही है कि दुनिया के टॉप 10 देशों में इसकी रैंकिंग में ऊपर पहुंच सकती है। यह पर्यटकों के लिए भी निश्चित तौर पर चिंता का विषय है। यूरोपियन यूनियन स्टडी के मुताबिक पूरे यूरोप में स्वीडन में सबसे ज्यादा बलात्कार के मामले सामने आते हैं।

8-रूस
रूसी rapeee-vबालाओं की खूबसूरती पूरी दुनिया में मशहूर है और यही खूबसूरती उनकी जान की दुश्मन बनी हुई है। हर साल 6000 से ज्यादा महिलाओं के साथ बलात्कार की घटनाएं दर्ज की जाती हैं। जबकि असल आंकड़ा इससे कहीं ज्यादा है। दूसरे विश्व युद्ध के दौरान रूस में महिलाओं के साथ गैंगरेप की सबसे ज्यादा वारदातें हुईं थीं, वो मानसिकता यहां अब भी कायम है। कई गैर सरकारी संगठनों का कहना है कि रूप में अधिकर बलात्कार के मामले दर्ज ही नहीं कराए जाते, जिस वजह से असल संख्या का पता लगाना मुश्किल है।

9-थाईलैंड
थाइलैंड rape-russiaउन देशों में शुमार है जहां वेश्यावृति को कानूनी मान्यता दी गई है। इसके पीछे तर्क था कि काम इच्छा की पूर्ति के लिए अगर लोगों को आसान साधन उपलब्ध होगा तो बलात्कार जैसी घटनाओं में कमी आएगी, लेकिन हो इसके एकदम उलट रहा है। यहां हर साल सबसे ज्यादा बलात्कार के मामले दर्ज किए जाते हैं। यहां तक कि बच्चियों के साथ ही बुजुर्ग महिलाएं भी शिकार बनती हैं। खासतौर पर अकेली महिलाओं के लिए तो यह जगह सबसे ज्यादा खतरनाक है।

10-बेल्जियम
बेल्जियम की शांत फिजा भी बलात्कार पीडि़तों की चीख से अपनी पहचान खो रही है। लगातार बढ़ते मामलों के बावजूद यहां महिला सुरक्षा को लेकर सरकार और प्रशासनिक स्तर पर कड़े कदम नहीं उठाए जाते। हालात ये हो चले हैं कि महिला-युवतियों के लिए घर से बाहर निकलना तक मुश्किल हो गया है। 2013 में यहां एक ही दिन में बलात्कार के 8 केस दर्ज किए गए थे।

Leave a Reply