घोड़े ने मालिक को ऐसे दी अंतिम विदाई

घोड़े ने मालिक को ऐसे दी अंतिम विदाई

किसी अपने के बिछड़ने का गम जितना इंसानों को होता है, उतना जानवरों को भी। ब्राजील निवासी वॉग्नर डी लीमा की नए साल के पहले दिन एक सड़क हादसे में मौत हो गई। उनकी अंतिम यात्रा में परिवार के सदस्यों के अलावा जिसकी आंखें सबसे ज्यादा नम थीं, वो उनका घोड़ा था। घोड़े ने न केवल कॉफिन से सिर लगाकर अपने मालिक को अंतिम विदाई दी, बल्कि पूरे रास्ते वो जोर जोर से आवाज निकालता रहा। अंतिम यात्रा में शामिल हर शख्स का दुख सेरेनो नामक इस घोड़े के दर्द को देखकर दोगुना हो गया। वॉग्नर का भाई वैंडो सेरेनो को अंतिम यात्रा में इसलिए लेकर आया था, ताकि वो जान सके कि उसका मालिक अब कभी लौटकर नहीं आएगा।

सबकुछ था उसका
वैंडो ने कहा, यह घोड़ा वॉग्नर के लिए सबकुछ था। दोनों एक दूसरे की जान थे, इसलिए मैं नहीं चाहता था कि सेरेनो अपने मालिक को आखिरी बार देखने से महरूम रह जाए। पूरी यात्रा के दौरान सेरेनो कभी जोर जोर से आवाजें निकालता, कभी एक ही जगह खड़ा हो जाता। वो बीच बीच में वॉग्नर के कॉफिन से जाकर अपना सिर टकराता।

मानो रो रहा हो
नए साल के पहले दिन वॉग्नर की बाइक नियंत्रण खोने के चलते दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी। वॉग्नर को तुरंत अस्पताल पहुंचाया गया, लेकिन दो गंभीर ऑपरेशन के बावजूद भी उसकी जान नहीं बचाई जा सकी। वॉग्नर एक कॉउबॉय था और पिछले आठ सालों के सेरेनो के साथ परफॉर्म कर रहा था। दोनों ने दर्जनों पुरस्कार और कैश प्राइज़ जीते थे। वॉग्नर की दोस्त लिमिरा ने कहा, एक घोड़े को इस तरह से रोते देखना अविश्वसनीय था। यदि मैं अपनी आंखों से नहीं देखती तो शायद मुझे विश्वास ही नहीं होता। जैसे ही हम कॉफिन को ले जाने लगे, सेरेनो ने जोर जोर से आवाजें निकालना शुरू कर दिया मानो वो रो रहा हो। इसके बाद उसने जोर जोर से अपने पैरों को जमीन पर पटकना शुरू कर दिया।

Share:

Related Post

Leave a Reply