सावधान! फर्जी वकील आपको ठग न ले

  • बकाया भुगतान के लिए इंटरनेट कंपनियां कर रहीं धोखाधड़ी

पुणे: इंटरनेट सेवा प्रदान करने वाली अधिकांश कंपनियों के दावे जितने खोखले होते हैं, उनका काम करने का तरीका उतना ही शातिर। ये कंपनियां उपभोक्ताओं को अपने जाल में फंसाने के लिए कई तरह के प्रलोभन देती हैं, लेकिन जब उपभोक्ता इनका साथ छोड़ना चाहता है तो उसे कानून  का डर दिखाया जाता है। कई कंपनियां तो बकाया भुगतान के लिए जालसाजी तक का सहारा ले रही हैं। इनकी तरफ से उन उपभोक्ताओं को फोन करवाया जाता है, जो या तो सेवा समाप्त कर चुके हैं या करने वाले हैं। फोन करने वाला खुद को दिल्ली सिविल हाईकोर्ट का वरिष्ठ वकील बताते हुए 30 मिनट के भीतर बकाया राशि से ज्यादा का भुगतान करने की चेतावनी देता है। संबंधित उपभोक्ता को धमकाया जाता है कि अगर उसने भुगतान नहीं किया तो उसका लाइसेंस, पासपोर्ट जब्त कर लिया जाएगा और उसे सुनवाई के लिए तत्काल दिल्ली आना होगा। कोर्ट-कचहरी से बचने के लिए उपभोक्ता भुगतान कर देता है और जब तक उसे अपने साथ हुई धोखाधड़ी का अहसास होता है, तब तक बहुत देर हो चुकी होती है।

बना लिया शिकार
पिंपले-गुरव निवासी हर्ष शर्मा (परिवर्तित नाम) भी हाल ही में ऐसी धोखाधड़ी का शिकार हुए। हर्ष काफी वक्त से तिकोना नामक कंपनी की सेवाएं ले रहे थे। बार-बार शिकायतों के बावजूद भी जब उनकी समस्या दूर नहीं हुई तो उन्होंने कंपनी से सेवा समाप्त करने का अनुरोध किया। हर्ष ने 5 सितंबर को इस संबंध में कंपनी को सूचित किया, कंपनी की तरफ से 14 सितंबर को एक ईमेल आया जिसमें सेवा सुधारने की बात कही गई। लेकिन हर्ष अपने फैसले पर कायम रहे। इसके बाद कंपनी ने कनेक्शन बंद करने की प्रक्रिया आगे बढ़ाई। हर्ष ने परेशानी से बचने के लिए कंपनी की नीति अनुसार अग्रिम भुगतान भी किया। इसके बावजूद उन्हें बिल भेजे जाते रहे। उन्हें आखिरी बिल 234.72 रुपए का मिला, जिसे 30 नवंबर से पहले भरने था। हर्ष ने तिकोना से इसकी वजह जाननी चाहिए, मगर कंपनी ने कोई उत्तर नहीं दिया।

ज्यादा की वसूली
पांच दिसंबर को हर्ष को एक महिला का फोन आया। जिसने अपना नाम एडवोकेट वर्षा बताते हुए कहा कि “मैं दिल्ली सिविल हाईकोर्ट से बोल रही हूं तिकोना ने आपके खिलाफ केस किया है। अगर आपने 30 मिनट में 550 रुपए नहीं भरे तो आपका ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट, डेबिट-क्रेडिट कार्ड निष्क्रिय कर दिया जाएगा। आपको कल ही सुनवाई के लिए दिल्ली आना होगा”। उक्त महिला ने हर्ष से यह भी कि कहा कि “अगर कंपनी की गलती है तो मैं आपकी तरफ से तिकोना के खिलाफ केस लडूंगी, लेकिन उसके लिए पहले आपको भुगतान करना होगा”। घबराए हर्ष ने बिना ज्यादा सोच-विचारे तिकोना की वेबसाइट पर जाएगा 550 रुपए भर दिए। इसके बाद जब उन्होंने महिला को फोन लगाया तो कोई जवाब नहीं मिला। यहां गौर करने वाली बात ये भी है कि हर्ष का आखिरी बिल 234 रुपए था, जिसका निर्धारित तिथि के बाद भुगतान पर 100 रुपए दंड भरना पड़ता। बावजूद इसके कंपनी ने हर्ष से 550 रुपए वसूले।

बातचीत की रिकॉर्ड
हर्ष ने आज का खबरी से कहा, “अग्रिम भुगतान करने के बाद भी मुझे बार-बार बिल भेजे जाते रहे। मैंने इसकी वजह जानने के लिए कंपनी को कई ईमेल किए, लेकिन कोई उत्तर नहीं मिला। एक दिन अचानक ही एक महिला का फोन आया, जिसने तुरंत बिल न भरने पर लाइसेंस, पासपोर्ट आदि निष्क्रिय करने की धमकी दी। मैंने उस महिला को बताया कि मैं एडवांस भुगतान कर चुका हूं। यानी जिस अवधि में मैंने इंटरनेट इस्तेमाल ही नहीं किया उसका भी पैसा भरा है, लेकिन वो कुछ सुनने को तैयार नहीं थी। कायदे में तो कंपनी को मुझे पैसे वापस करने चाहिए थे”। हर्ष ने कुछ वक्त बाद उस नंबर पर दोबारा कॉल किया और पूरी बातचीत रिकॉर्ड कर ली। रिकॉर्डिंग सुनने के बाद साफ पता चल जाता है कि कॉल करने वाली महिला फर्जी वकील है। इंटरनेट पर भी तिकोना के संबंध में ऐसी शिकायतों का अंबार है। कंपनी ने हर्ष ही नहीं, बल्कि कई उपभोक्ताओं को इस तरह के कॉल करवाए हैं।

हो सकती है कार्रवाई
asimइस बारे में वरिष्ठ अधिवक्ता असीम सरोदे ने कहा, “पहली बात तो कोई भी वकील धमकी भरे लहजे में बात नहीं कर सकता। वो केवल समझाइश दे सकता है। अगर कंपनी ने किसी उपभोक्ता के खिलाफ केस किया भी है, तो उसे पहले नोटिस भेजा जाना चाहिए। दूसरी बात अगर कॉल करने वाला फर्जी वकील है तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई हो सकती है। बार काउंसिल को भी इस मामले पर ध्यान देना चाहिए। क्योंकि यदि कोई वकील बनकर लोगों को धमका रहा है तो इससे वकालत का पेश बदनाम होता है”।

  • “आज का खबरी” ने इस संबंध में कंपनी से संपर्क करने का प्रयास किया गया, लेकिन बात नहीं हो सकी।

One Response to "सावधान! फर्जी वकील आपको ठग न ले"

  1. Tikona is a BIG BIG fraud. Please don’t ever use Tikona internet.
    Worst services and even the worst customer care.These people are very cheap and badly fooling consumers. These fakers will not resolve any of your issues related to anything.

    Reply

Leave a Reply