Knowledge Booster: ऐसे चुने जाते हैं राष्ट्रपति

Boost your Knowledge….

राष्ट्रपति चुनाव (Election of President) के लिए भाजपा और कांग्रेस समर्थन जुटाने में लगे हैं. मौजूदा राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल 24 जुलाई को ख़त्म होने जा रहा है. वहीं उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी का कार्यकाल 10 अगस्त को समाप्त होगा. भारत में राष्ट्रपति चुनाव अमेरिका जैसे देशों से बिल्कुल अलग है. वहां जनता अपने राष्ट्रपति का चुनाव करती है और यहां जनता के प्रतिनिधि उस दायित्व को निभाते हैं. आइए इस चुनाव प्रक्रिया को विस्तार से समझते हैं:

राष्ट्रपति चुनाव निर्वाचन मंडल (इलेक्टोरल कॉलेज) द्वारा किया जाता है. सभी विधानसभाओं के चुने गए सदस्य और लोकसभा एवं राज्यसभा के सांसद चुनाव में वोट डालते हैं. हालांकि जिन सांसदों को राष्ट्रपति द्वारा नामित किया जाता है उन्हें वोट डालने का अधिकार नहीं होता. ऐसे ही विधान परिषद् के सदस्य भी इस चुनाव में मताधिकार का प्रयोग नहीं कर सकते.

राष्ट्रपति चुनाव के लिए विशेष तरीके से वोटिंग होती है. इसे सिंगल ट्रांसफरेबल वोट सिस्टम कहा जाता है. यानी एक वोटर केवल एक ही वोट दे सकता है, लेकिन वह उमीदवारों के लिए अपनी वरीयता तय कर सकता है. जैसे वो बैलेट पेपर पर यह बता सकता है कि उसकी पहली, दूसरी या तीसरी पसंद कौन है. सांसद और विधायकों के वोट का वेटेज अलग-अलग होता है. इसी तरह दो राज्यों के विधायकों के वोटों के वेटज भी भिन्न होगा, यह राज्य की जनसंख्या पर निर्भर करता है.

कैसे निकलता है वेटेज
सांसद
सांसदों के वोट का वेटेज निकालने के लिए सबसे पहले सभी विधानसभाओं के चुने गए सदस्यों के वोटों का वेटेज जोड़ा जाता है. फिर योग को लोकसभा और राज्यसभा सांसदों की कुल संख्या से भाग दिया जाता है. इस तरह जो परिणाम आता है वो एक सांसद के वोट का वेटेज होता है.

विधायक
इसके लिए संबंधित राज्य की जनसंख्या को चुने गए विधायकों की संख्या से भाग दिया जाता है. जो अंक मिलता है उसे फिर 1000 से भाग देकर एक विधायक के वोट का वेटेज निकाला जाता है.

बाकी चुनावों की तरह इस चुनाव में सबसे ज्यादा मत ही जीत तय नहीं करते. राष्ट्रपति वही बनता है, जो सांसदों एवं विधायकों के वोटों के कुल वेटेज का आधा से ज्यादा हिस्सा हासिल करे. मौजूदा निर्वाचन मंडल के सदस्यों के वोटों का कुल वेटेज 10,98,882 है. इस लिहाज से जीत के लिए उम्मीदवार को 5,49,442 वोट प्राप्त करने होंगे.

Leave a Reply