Mobile ने सुलझाया 7 महीने पुराना केस

मोबाइल ट्रैकिंग टेक्नोलॉजी पुलिस के लिए वरदान साबित हो रही है। भारती विद्यापीठ पुलिस ने इसी तकनीक की बदौलत 7 महीने पुराने लूट के केस को stolen-mobileसुलझाने में सफलता हासिल की है। पिछले साल 15 जुलाई को कात्रज के पास दत्तनगर में एक ओल्ड-एज होम के केयरटेकर के साथ दो अज्ञात युवकों ने मारपीट कर नकदी और Mobile फोन लूट लिए थे। तब से ये केस पुलिस के लिए पहेली बना हुआ था। पुलिस ने हर संभावना तलाशी, लेकिन उसे सफलता नहीं मिली। पूरे 7 महीने के बाद इस केस में आशा की किरण तब दिखाई दी, जब चोरी गए मोबाइल फोन में से एक एक्टिवेट हुआ। पुलिस ने इस संबंध में 24 वर्षीय श्याम चंदालिया को गिरफ्तार किया है। आरोपी खेड़ गांव में ओल्ड-एज होम चलाता है। जबकि उसका साथी अब भी फरार है। पुलिस सब इंस्पेक्टर उत्तम बुदगुड़े ने कहा, दोनों फोन बंद थे, इसलिए आरोपियों की लोकेशन का पता लगाने में मुश्किल हो रही थी। हम जानते थे कि कभी न कभी फोन ऑन जरूर होंगे, इसलिए हमने उन्हें सर्विलांस पर डाल दिया था। जैसे ही एक फोन चालू हुआ, हमने उसकी लोकेशन के आधार पर खेड़ से चंदालिया को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ के दौरान चंदालिया ने कुबूल किया कि उसने अपने दोस्त प्रकाश दामले के साथ मिलकर लूटपाट को अंजाम दिया था। पुलिस अब फरार प्रकाश की तलाश में जुट गई है।

Leave a Reply