देश में कैश की किल्लत, यहां बह रहीं पैसों की नदियां!

नोटबंदी के चलते हुई कैश किल्लत से जहां पूरा देश मायूस है, वहीं बेंगलुरु में शाही शादी की शहनाईयां गूंज रही हैं। सरकार द्वारा reddyलगाई गईं पाबंदियों का असर इस शादी से कोसो दूर है। यहां पानी की तरह पैसा नहीं, बल्कि पैसे की नदियां ही बहा दी गई हैं। माइनिंग किंग कहलाने वाले कर्नाटक के पूर्व मंत्री जनार्दन रेड्डी की बेटी ब्रह्माणी की पांच दिनों तक चलने वाली शादी में 5 अरब रुपए खर्च होने का अनुमान है। शादी के निमंत्रण पत्र को भी एक बॉक्स में भेजा गया था, जिसमें एलसीडी स्क्रीन पर पूरे परिवार को न्यौता देता संदेश प्रकट होता था।

कुछ ऐसे हैं इंतजाम

  • बेंगलुरु पैलेस ग्राउंड में बॉलीवुड के आर्ट डायरेक्टरों की मदद से तैयार किए गए सेट लगाए गए हैं, जो हम्पी के विट्ठल मंदिर से लेकर चेन्नई के काउल बाजार की नकल हैं। इसके अलावा दुल्हन और दूल्हे के घरों की प्रतिकृतियां बनाई गई हैं। साथ ही जहां खाने पीने का इंतजाम किया गया है, उस क्षेत्र को बेल्लारी के उस गांव का रूप दिया गया है जो जनार्दन रेड्डी का गृहनगर है।
  • प्रवेशद्वार से विवाह स्थल तक मेहमानों को लाने ले जाने के लिए 400 बैलगाडि़यों की व्यवस्था की गई है। इस शादी के लिए 50 हजार लोगों को न्यौता दिया गया है, तथा सुरक्षा के लिए तीन हजार सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं। साथ ही खोजी कुत्ते और बम निरोधक दस्ता भी यहां मौजूद रहेगा। रेड्डी की बेटी जो साड़ी पहनेगी उसकी कीमत 17 करोड़ बताई जा रही है, जबकि उसके आभूषणों का मूल्य 90 करोड़ है।

रईस शामिल या नहीं?
रेड्डी के हवाले से कहा गया है कि उन्होंने बेंगलुरु और सिंगापुर में संपत्ति गिरवी रखी है और छह महीने पहले ही सारा भुगतान कर दिया गया था। सोशल मीडिया पर इस शादी को लेकर चर्चा चल रही है। अधिकतर लोगों ने इसे पैसे की बेशर्म नुमाइश करार दिया है। वहीं विपक्षी पार्टियां सवाल कर रही हैं कि कालेधन के खिलाफ मोदी के अभियान में रईस लोग शामिल हैं या नहीं? गौरतलब है कि भाजपा के पूर्व सदस्य रेड्डी भ्रष्टाचार के आरोपों में तीन साल की कैद काट चुके हैं।

Leave a Reply