पाक की कायराना हरकतः जवान के शव से बर्बरता

पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। जम्मू कश्मीर के माछिल सेक्टर में पाक सेना द्वारा भारतीय जवान के शव को indian-armyक्षत विक्षत करने की घटना सामने आई है। पिछले महीने के अंदर पाकिस्तान की ओर से की गई यह दूसरी घृणित कार्रवाई है। सरकार ने सेना को इसका मुंहतोड़ जवाब देने के निर्देश दिए हैं। जानकारी के मुताबिक, माछिल में पाक सेना के हमले में तीन भारतीय सैनिक शहीद हो गए थे। पाकिस्तानी फौजियों ने कायराना हरकत को अंजाम देते हुए एक जवान के शव को क्षत विक्षत कर दिया। गौरतलब है कि अक्टूबर में भी इसी तरह एक भारतीय जवान के शव के साथ बर्बरता की गई थी।

कन्वेंशन का उल्लंघन
रक्षा विशेषज्ञों ने पाक सेना की इस कार्रवाई को जिनेवा कन्वेंशन का उल्लंघन करार दिया है। उनका कहना है कि सरकार को इस मामले को संयुक्त राष्ट्र में उठाना चाहिए। जानकारों का मानना है कि अगर भारत ने पिछले घटना पर तीखी प्रतिक्रिया दिखाते हुए जोरशोर से मामले को उठाया होता तो शायद यह घटना नहीं होती। गौरतलब है कि भारतीय सेना द्वारा की गई सर्जिकल स्ट्राइक के बाद से ही पाकिस्तानी सैनिक बौखलाए हुए हैं। उनकी तरफ से सीमा पर लगातार फायरिंग की जा रही है।

  • बोले पाकिस्तान जाने के लिए माफी मांगे पीएम

पाकिस्तानी कलाकारों के समर्थन में आवाज बुलंद करने वाली बॉलीवुड के दिग्गज अब सीधे प्रधानमंत्री पर ही उंगली उठाने लगे हैं। फिल्म निर्माता निर्देशक अनुराग कश्यप ने पाकिस्तान जाने के लिए पीएम से माफी मांगने को कहा है। फिल्म ‘ऐ दिल है मुश्किल’ की रिलीज को लेकर मचे बवाल के बीच अनुराग ने एक के बाद एक पांच ट्वीट किए। उन्होंने लिखा, सर आपने अभी तक पाक anurag-kashyapजाकर वहां के पीएम से मुलाकात के लिए माफी नहीं मांगी है, जबकि उसी दौरान 25 दिसंबर को कारण जौहर ऐ दिल है मुश्किल की शूटिंग कर रहे थे। अनुराग ने आगे कहा, यदि करण की फिल्म गलत है तो नरेंद्र मोदी को भी माफी मांगनी चाहिए, क्योंकि वो भी टैक्स पेयर, यानी हमारे पैसे से पाकिस्तानी पीएम से मिले थे।

विवाद की वजह
दरअसल, करण जौहर की इस फिल्म में पाकिस्तानी हीरो फवाद खान लीड रोल में है। इसके चलते महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना सहित कुछ क्षेत्रीय दल फिल्म का विरोध कर रहे हैं। कुछ सिंगल स्क्रीन थिएटर ने भी फिल्म दिखाने से इंकार कर दिया है। राज ठाकरे की पार्टी ने साफ किया है कि यदि फिल्म से फवाद के सीन नहीं हटाए गए तो वो इसे रिलीज नहीं होने देंगे। करण जौहर के समर्थन में अब बॉलीवुड की कई हस्तियां उतर आई हैं। जिसमें अनुराग कश्यप ने सबसे बोल्ड तरह से अपनी बात रही है।

मुझे कॉल मत करो
अनुराग ने एक ट्वीट में लिखा है, मीडिया के लोगों मुझे कॉल करना बंद करो। मुझे जो कहना था, वो कह दिया और मैंने शराब पीकर ये ट्वीट नहीं किए हैं। अनुराग ने सोशल मीडिया पर देशभक्ति करने वालों को नसीहत देते हुए कहा, यहां पर चिल्लाकर अपनी देशभक्ति साबित करने के बजाए सीमा पर जाकर देश की सुरक्षा करो।

ठाकरे पर निशाना
अनुराग ने राज ठाकरे का नाम लिए बिना कहा, मैं एक ऐसी पार्टी से मुखातिब नहीं होना चाहता जो अपना महत्व खो चुकी है और फिल्म इंडस्ट्री के जरिए खबरों में आना चाहती है।

अब पत्थरबाजी पर उतरे पाकिस्तानी

  • Beating Retreat के दौरान कश्मीर के समर्थन में नारे भी लगाए

भारतीय सेना के सर्जिकल स्ट्राइक से पाकिस्तानियों की बौखलाहट साफ तौर पर नजर आने लगी है। रविवार को अटारी वाघा बॉर्डर पर बीटिंग रिट्रीट सेरिमनी दौरान पाकिस्तान की तरफ से भारतीय दर्शकों पर पत्थर फेंके गए और कश्मीर के समर्थन में नारे भी लगाए गए। सूत्रों के मुताबिक, कुछ पत्थर लोगों को लगे भी, हालांकि गनीमत रही कि किसी को गंभीर चोट नहीं आई। घटना के तुरंत बाद भारत ने पाक अधिकारियों के समक्ष अपना विरोध दर्ज कराया। एक बीएसएफ जवान ने उजागर न करने की शर्त पर beating-retreatबताया कि पाकिस्तानियों की तरफ से लगातार ऐसी हरकतें की जा रही हैं। इसी के चलते सेरिमनी में दर्शकों के आने पर रोक लगा दी गई थी। रविवार को कुछ दर्शकों को इसमें शामिल होने की इजाजत दी गई।

पाक रेंजर्स का हाथ
बीएसएफ का मानना है कि पत्थर फेंकने वालों में पाक रेंजर्स भी शामिल हो सकते हैं। सर्जिकल स्ट्राइक के बाद से पाक रेंजर्स का व्यवहार काफी बदला हुआ है। एक अधिकारी ने कहा, आमतौर पर हमारी बातचीत होती रहती है, लेकिन जब से हमारी सेना ने पीओके में आतंकी ठिकाने नष्ट किए हैं, पाक अधिकारियों का रुख में कड़वाहट आ गई है। संभव है कि उनके उकसावे पर ही पत्थर फेंके जा रहे हों। सूत्रों के मुताबिक बीटिंग रिट्रीट में लोगों की मौजूदगी को हालात सामान्य होने तक पूरी तरह रोका जा सकता है।

10 आतंकियों को जहन्नुम पहुंचाया

  • सेना ने पाकिस्तान को दिया करारा जवाब

उरी में सेना ने घुसपैठ की कोशिश कर रहे 10 आतंकियों को जहन्नुम पहुंचा दिया है। खबरों के मुताबिक, कुल 15 आतंकवादी घुसपैठ की फिराक मे थे, जिसमें से सेना ने अब तक 10 को ढेर कर दिया है। बाकी आतंकियों से मुठभेड़ जारी है। इसके अलावा indianarmyजम्मू कश्मीर के हंदवाड़ा में भी सेना और दहशतगर्दों के बीच मुठभेड़ चल रही है। इस मुठभेड़ में सेना का एक जवान गंभीर रूप से घायल हो गया है। गौरतलब है कि रविवार को आर्मी कैंप पर हुए हमले में 19 जवान शहीद हुए थे, इसके बाद से सेना द्वारा बड़ी कार्रवाई की बात कही जा रही है। मालूम हो कि पाकिस्तान की तरफ से इस इलाके में सीजफायर उल्लंघन भी किया जा रहा है। पाक की तरफ से करीब 20 राउंड गोलीबारी की गई, जिसकी भारतीय सेना ने भी मुंहतोड़ जवाब दिया।

पाक मीडिया डरा
उरी हमले के बाद से पाक मीडिया सख्ते में है। पाकिस्तान के अखबार डॉन की वेबसाइट पर एक लेख में बताया गया है कि पाकिस्तान को क्या क्या नुकसान उठाने पड़ सकते हैं। पाक सरकार भी अपने लिए समर्थन जुटाने में लगी है। चीन और मुस्लिम देशों से भारत के खिलाफ उसका साथ देने का आव्हान किया जा रहा है।

इंडो-यूएस रिश्तों से पड़ोसियों को लगी मिर्ची

भारत की बढ़ती सामरिक ताकत देख पाकिस्तान और चीन को मिर्ची लगना शुरू हो गया है। दोनों इस कदर बौखला गए हैं कि indoभारत पर रिश्ते बिगाड़ने का आरोप लगा रहे हैं। पाकिस्तान अखबार डॉन कहता है, भारत अमेरिका रक्षा समझौता पाक और चीन पर असर डालेगा। अखबार के मुताबिक भारत और अमेरिका एक दूसरे के सैन्य अड्डों का इस्तेमाल करेंगे। लॉजिस्टिक एक्सचेंज मेमोरेंडम के बाद अमेरिकी नौसेना और वायुसेना के लिए भारत के सैन्य अड्डों से लड़ना आसान हो जाएगा। इस तरह अमेरिका भारत में भी अपना अड्डा स्थापित कर सकेगा। डॉन ने अपनी रिपोर्ट में अमेरिकी पत्रिका फोर्ब्स का हवाला दिया है। फोर्ब्स ने कुछ दिन पहले एक लेख में कहा था कि पाकिस्तान और चीन सावधान हो जाएं। भारत और अमेरिका इस हफ्ते बहुत बड़ा सैन्य समझौता करने जा रहे हैं। उर्दू चैनल समा का कहना है कि इस सौदे का असर क्षेत्रीय सामरिक संघर्ष पर पड़ेगा।

निभा रहा दुश्मनी
चीन के ग्लोबल टाइम्स ने लिखा है, यह समझौता दोनों देशों के लिए बेशक लंबी छलांग होगी, लेकिन इससे भारत अपनी रणनीतिक आजादी खो सकता है और अमेरिकी पिछलग्गु बनता जा रहा है। अखबार आगे कहता है, मोदी पाकिस्तान के साथ रिश्ते सुधारने की कोशिशों के बाद अब अपना सब्र खो चुके हैं और उन्होंने रुख बदलकर दुश्मनी वाला भाव अपना लिया है।

पाकिस्तानी झंडा हटाने के लिए जवान ने लगाई जान की बाजी, फहराया तिरंगा

दक्षिण कश्मीर (J&K) के त्राल में मोबाइल टावर पर लगे पाकिस्तानी झंडे को हटाने के लिए सीआरपीएफ जवान ने अपनी जान की बाजी लगा दी। स्वतंत्रता दिवस के मौके पर जवान ने 50 मीटर ऊंचे टॉवर पर चढ़कर पहले पाक का झंडा निकाला और फिर वहां तिरंगा J&Kफहरा दिया। जवान की इस बहादुरी और तिरंगे के प्रति सम्मान का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। मालूम हो कि 8 जुलाई को एनकाउंटर में मारा गया आतंकी बुरहान वानी त्राल का ही रहने वाला था। उसकी मौत के बाद पूरे कश्मीर में तनाव का माहौल है। कई जगहों पर पाकिस्तान झंडे लहराते पहले भी देखे गए हैं।

    इंडिपेडेंस डे के मौके पर आला अफसरों ने सीआरपीएफ जवानों को निर्देश दिए थे कि किसी भी इलाके में पाक झंडा दिखाई नहीं देना चाहिए। सर्चिंग अभियान के दौरान जब कॉन्स्टेबल सचिन कुमार की नजर मोबाइल टॉवर पर लगे पाकिस्तानी झंडे पर पड़ी तो वह बिना वक्त गंवाए टॉवर पर चढ़ गए और वहां तिरंगा फहरा दिया। सचिन के साथियों ने ड्रोन की मदद से इस पूरी घटना का वीडियो तैयार किया, जिसे सोशल मीडिया पर खूब पसंद किया जा रहा है।

पाकिस्तान में नहीं दिखेंगे कंडोम के विज्ञापन

दखियानूसी विचारधारा के मामले में पाकिस्तान ने एक कदम और आगे बढ़ा दिया है। PAK में प्रसारण नियामक संस्था पेमरा ने कंडोम के विज्ञापनों के रेडियो और टीवी प्रसारण पर रोक लगा दी है। सभी मीडिया संस्थानों को भेजी गई अधिसूचना में पेमरा ने condom-coupleटीवी एवं रेडियो चैनलों से परिवार नियोजन साधनों के विज्ञापन के प्रसारण तुरंत रोकने को कहा है। अधिसूचना में कहा गया है कि मासूम बच्चों पर ऐसे उत्पादों के विज्ञापनों का गलत असर पड़ता है। वैसे यह बात अलग है कि पाकिस्तान में कंडोम के विज्ञापन और परिवार नियोजन जैसे मुद्दों पर बातचीत कम ही होती है। संयुक्त राष्ट्र के एक रिपोर्ट बताती है कि पाक में एक तिहाई आबादी को परिवार नियोजन साधनों तक पहुंच नहीं है।

       वहीं, पाकिस्तान में पेमरा के इस फैसले का विरोध भी शुरू हो गया है। सोशल मीडिया पर लोगों ने इसे लेकर कड़ी आपत्ति जताई है। फहमिदा इकबाल ने ट्वीट किया है, पेमरा कुछ तो समझदारी दिखाओ। ये 21वीं सदी है, जागरुकता अभियान मत रोको। गुल बुखारी ने लिखा है, काश पेमरा अफसरों के माता पिता ने कंडोम का इस्तेमाल किया होता।