टीसी ने यात्री को मारे थप्पड़!

  • पुणे रेलवे स्टेशन की घटना, TC के बचाव में उतरा रेलवे.
पुणे रेलवे स्टेशन पर एक टीसी द्वारा यात्री से मारपीट का मामला सामने आया है। ‘आज का खबरी’ के पास इस घटना का वीडियो में जिसमें साफ तौर पर नजर आ रहा है कि पहले एक युवा टीसी बिना उकसावे के यात्री को थप्पड़ मारता है उसके बाद वहां मौजूद आरपीएफ कर्मी भी उसके साथ मारपिटाई करता है। हालांकि रेलवे का कहना है कि उक्त यात्री ने पहले टीसी के साथ बदसलूकी की थी। जानकारी के मुताबिक एक फरवरी रात 12.30 बजे के आसपास टिकट चेकिंग स्टाफ ने यात्री को प्लेटफॉर्म नंबर 6 से पकड़ा। इसके बाद उसे डीसीटीआई कार्यालय लेकर लाया गया और यहां उसके साथ मारपीट की गई। जबकि, रेलवे का कहना है कि यात्री से जब टिकट दिखाने को कहा गया तो उसने न केवल गालीगलौच की बल्कि टीसी की शर्ट भी फाड़ दी।
गलती उसकी थी पर हाथ उठाना गलत
सीनियर डिविजनल कमर्शियल मैनेजर क्रिष्णनथ पाटिल ने कहा, “उक्त यात्री के पास मान्य टिकट नहीं थी, जब टीसी ने उसे जुर्माना भरने को कहा तो उसने गालियां देना शुरू कर दिया। इसके बाद उसे टीसी ऑफिस लाया गया, यहां भी उसने रेलवे स्टाफ के साथ बदसलूकी की। हालांकि बाद में उसे अपनी गलती का अहसास हुआ और उसने लिखित माफी मांगी”। पाटिल का भी मानना है कि इस तरह टीसी का हाथ उठाना गलत है। उन्होंने कहा, हमने टीसी को इस बारे में हिदायत दे दी है।

आम हैं घटनाएं
एक वरिष्ठ रेल अधिकारी ने नाम उजागर न करने की शर्त पर कहा, “पुणे स्टेशन पर इस तरह की घटनाएं आम हैं। खासकर देर रात यात्रा करने वालों के साथ रेलवे स्टाफ और पुलिसकर्मी सबसे ज्यादा बदसलूकी करते हैं। यात्रियों से मोबाइल दिखाने को कहा जाता है और गलती से उसमें कोई अश्लील वीडियो क्लिप मिल गई तो जबरन वसूली की जाती है। जो पैसे देने से इंकार करता है उसके साथ मारपीट होती है”।
छोड़ा क्यों, कार्रवाई करते
रेलवे प्रवासी ग्रुप की अध्यक्षा हर्षा शाह ने कहा, “अगर यात्री ने बदसलूकी की थी तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जानी चाहिए थी, ताकि भविष्य में लोगों को सबक मिल सके। महज माफीनामा लेकर उसे छोड़ना समझ से परे है। जहां तक बात टीसी द्वारा हाथ उठाए जाने की है तो वो बिल्कुल गलत है। सरकारी अधिकारी को इस तरह अपना आपा नहीं खोना चाहिए”।

Leave a Reply