मुफलिसी में दिन गुज़ार रहे ये क्रिकेट सितारे

क्रिकेट की दुनिया चकाचौंध से भरपूर है, यहां पैसे की कोई कमी नहीं है. एक बार जिसने नाम कमा लिया, लक्ष्मी की मेहरबानी उस पर अपने आप होने लगती है. रिटायरमेंट के बाद भी कोच बनकर या कमेंट्री आदि माध्यम से cricketer अच्छी खासी रकम कमा लेते हैं. लेकिन कुछ खिलाड़ी ऐसे भी हैं, जो क्रिकेट की दुनिया में शौहरत हासिल करने के बावजूद आज मुफलिसी में जीवन गुजार रहे हैं.
cricketerऑलराउंडर क्रिस केन्स
न्यूज़ीलैण्ड टीम के सबसे शानदार ऑलराउंडर माने जाने वाले क्रिस केन्स 62 टेस्ट और 215 वनडे खेले और क्रमश: 3320 और 4950 रन बनाए. अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर केन्स ने अपनी एक अलग ही पहचान स्थापित की थी. 2006 में उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से सन्यास किया और 2013 में आईसीएल में भाग लिया. लेकिन यहां उन पर फिक्सिंग के आरोप लगे, उसके बाद वो एकदम से गायब हो गए. 2014 में उन्हें ऑकलैंड में बस अड्डा साफ़ करते हुए पाया गया.

ऑलराउंडर क्रिस हैरिस
ऑलराउंडर क्रिस हैरिस 90 के दशक में न्यूज़ीलैण्ड टीम का अहम हिस्सा थे. उन्होंने 23 टेस्ट और 250 वनडे खेले जिसमें 5519 रन बनाए एवं 218 विकेट लिए. 2004 में क्रिकेट को अलविदा कहने के बाद उन्हें काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा. बाद में जीवन गुजारने के लिए वो ऑस्ट्रेलियाई कंपनी में मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव बन गए.

गेंदबाज़ अरशद खान
पाकिस्तानी गेंदबाज़ अरशद खान ने 9 टेस्ट और 58 वनडे खेले और क्रमश: 31 एवं 133 विकेट लिए. खान 1999 में पाकिस्तान की उस टीम का हिस्सा थे, जिसने श्रीलंका के खिलाफ एशिया टेस्ट चैंपियनशिप जीती थी. 2006 में रिटायरमेंट के बाद खान को जीवन जीने के लिए वो सबकुछ करना पड़ा, जिसके बारे में कोई क्रिकेटर कभी सोच भी नहीं सकता. 2015 में खबर आई कि अरशद ऑस्ट्रेलिया में बतौर कैब ड्राइवर काम कर रहे हैं.

गेंदबाज़ हेनरी ओलांगा
90 के दशक में जिम्बाब्वे के इस तेज़ गेंदबाज़ का खौफ था. दिग्गज खिलाड़ी भी इसके सामने खेलने से डरते थे. ओलांगा ने 30 टेस्ट और 50 वनडे खेले, जिसमें क्रमश: 68 और 58 विकेट लिए. 2003 के विश्व कप में उन्होंने और एंडी फ्लावर ने जिम्बाब्वे सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए हाथ पर काली पट्टी बाँधी थी. इसके बाद दबाव के चलते दोनों देश छोड़कर इंग्लैंड चले गए. 2007 में एंडी तो इंग्लैंड टीम के कोच बन गए, लेकिन ओलांगा कुछ ख़ास नहीं कर सके. बाद में उन्होंने म्यूजिक में हाथ आजमाया.

Leave a Reply