जल्द खत्म हो जाता है Data Pack, तो ये टिप्स आजमाएं

स्मार्टफोन यूजर्स की सबसे बड़ी शिकायत यही रहती है कि उनका डाटा पैक (DATA PACk) बहुत जल्दी खत्म हो जाता है। कई बार तो यूजर्स इसके लिए mobileटेलीकॉम कंपनी तक से भिड़ जाते हैं, जबकि हकीकत ये है कि डाटा पैक जल्द खत्म होने की वजह उनकी लापरवाही और अनभिज्ञता है। अधिकतर यूजर्स को इस बात की जानकारी ही नहीं होती कि स्मार्टफोन में ही डेटा खर्च को नियंत्रित करने के ऑप्शन्स मौजूद हैं। दरअसल, कई एप ऐसे होते हैं, जो समय-समय पर अपडेट होते रहते हैं। हर बार अपडेट का मतलब है, हर बड़ी मात्रा में डाटा खत्म होना। कुछ एप्स तो एक बार अपडेट के लिए 40 एमबी तक डाटा खर्च कर देते हैं। इसलिए ये बेहद जरूरी है कि हम डाटा के इस खर्च को नियंत्रित करें। सबसे पहले Google Play Store में जाकर सेटिंग से ऑटो अपडेट को बंद कर दें। ऐसी स्थिति में कोई भी एप अपडेट होने से पहले आपकी इजाजत मांगेगा। लिहाजा जिसको अपडेट करना आप जरूरी समझते हैं, केवल उसी से डाटा खर्च होगा।

लिमिट सेट करें
स्मार्टफोन में प्रतिदिन के हिसाब से डाटा खर्च करने की लिमिट निर्धारित की जा सकती है। इससे आपको पता चलता रहेगा कि हर रोज आप कितना डाटा खर्च कर देते हैं। फोन की डाटा सेटिंग में जाकर लिमिट सेट की जा सकती है। ऐसे में यदि आपका डाटा खर्च ज्यादा हो रहा होगा, तो मोबाइल आपको अलर्ट कर देगा। अधिकतर यूजर्स स्माटफोन के इस फंक्शन का इस्तेमाल ही नहीं करते। अगर आप भी ऐसे ही यूजर्स में से एक हैं तो तुरंत अपनी आदत बदल डालिए। इस एक छोटे से बदलाव से आपका डाटा पैक ज्यादा चल सकता है।

एप बंद नहीं
एप को बंद नहीं करना भी डाटा जल्द खत्म होने की एक वजह है। ज्यादातर यूजर्स एप को सही ढंग से बंद करने के बजाए ऐसे ही बाहर निकल आते हैं, जिससे एप इस्तेमाल न होने के बावजूद डाटा खर्च होता रहता है। उदाहरण के तौर पर आपने फेसबुक या वाट्सएप ओपन किया और काम खत्म होने के बाद बैक करके बाहर आ गए। इस स्थिति में एकदम स्क्रीन पर भले ही दिखाई न दे रहे हों, मगर बैकग्राउंड में चल रहे होते हैं। यानी आपके डाटा का इस्तेमाल हो रहा होता है। लिहाजा ये बेहद जरूरी है कि सही ढंग से एप को बंद किया जाए, इससे दो फायदे होंगे। एक तो आपका डाटा कम खर्च होगा और दूसरा मोबाइल का बैटरी बैकअप भी बढ़ेगा।टिप्स-बैकग्राउंड में चल रहे एप को ऑटोमैटिकली बंद करने के लिए आप सेटिंग में डाटा यूजेज में जाकर बैकग्राउंड डाटा को रिस्ट्रिक्ट कर सकते हैं। इस स्थिति में केवल तभी डाटा खर्च होगा जब आप एप ओपन करेंगे।

ऑटो डाउनलोड
वैसे तो वाट्सएप ज्यादा डाटा खर्च नहीं करता, लेकिन अगर आपने सेटिंग में बदलाव नहीं किए तो डाटा खर्च होने की रफ्तार खुद ब खुद बढ़ जाती है। दरअसल, वाट्सएप में इमेज ऑटो डाउनलोड का ऑप्शन बायडिफॉल्ट ऑन रहता है, यानी आपके संदेशों में जो भी फोटो आती है, वो अपने आप डाउनलोड हो जाती है। फिर भले ही आप ऐसा चाहते हों या नहीं। इसलिए डाटा बचाने के लिए वाट्सएप की सेटिंग में जाकर ऑटो डाउनलोड को ऑफ कर दें।

Leave a Reply